Featured Governess

सीमा ढाका के प्रोमोशन की इस तस्वीर के पीछे की पूरी कहानी।

इस तस्वीर के पीछे की कहानी जानने के लिए!

थोड़ा पीछे चलना होगा…

7 अगस्त 2020, दिल्ली पुलिस कमिश्नर के Office से एक आदेश जारी हुआ,

जिसमें लापता बच्चों की खोज के लिए दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस. एन. श्रीवास्वत की

नई रणनीति थी।

जो लापता बच्चों की खोज के तरीके को बदलने वाला था, और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि,

दिल्ली में लापता बच्चों की बरामदगी कम हो रही थी। 2020, जून और जुलाई में 724 बच्चों

के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज हुई, लेकिन बरामदगी सिर्फ 235 बच्चों की हुई।

इन आंकड़ों से चिंतित एस. एन. श्रीवास्तव ने नई रणनीति पर काम करना शुरु किया।

फैसला हुआ कि बच्चों को तलाशने के लिए जांच अधिकारी के दिल में दिलचस्पी पैदा की जाए।

इसके लिए एक बड़ा फैसला लिया गया कि साल भर में 50 या उससे ज्यादा लापता बच्चों को

जिनकी उम्र 14 साल से कम है,उनकी तलाश करने वाले सिपाही या हवलदार को Out of Turn

प्रोमोशन दिया जाएगा। 15 या उससे ज्यादा लापता बच्चों की तलाश करने वालों को

असाधारण कार्य पुरस्कार देने का फैसला हुआ।

इसके बाद लापता बच्चों की बरामदगी के आंकड़े में चौंकाने वाला बदलाव सामने आने लगा।

7 अगस्त से 10 अक्टूबर के बीच 874 बच्चों के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज हुई, और 1171 बच्चों को

दिल्ली पुलिस ने बरामद किया। यानी जो बच्चे पहले से लापता थे,उन्हें भी पुलिस ने बरामद किया।

दिल्ली पुलिस के इस अभियान का सबसे ज्यादा फायदा उन गरीब परिवारों को मिल रहा है,

जिनके पास बच्चों की तलाश के लिए ना पैसा है और ना ही कोई सिफारिश।

इसी अभियान के तहत महिला हवलदार सीमा ढाका ने 76 लापता बच्चों की तलाश कर

उनके परिवार को सौंपा। जिसमें 56 बच्चे 14 साल से कम उम्र के थे, और सीमा ढाका को

Out of Turn प्रोमोशन मिला।

दिल्ली पुलिस का यह अभियान काबिले तारीफ है…

Related posts

देखिए योगी सरकार की एक प्रोफेनल टीम कैसे लड़ रही है कोरोना से जंग..

Team WeYo

प. बंगाल के इस महापीठ में भक्तों की मनोकामना जरुर पूरी होती है

Team WeYo

इनकी फिटनेस के आप भी कायल हो जाएंगे।

Team WeYo

Leave a Comment

Share your story