प्रमुख खबरें प्रेरणा

इस कंपनी ने गार्ड को बनाया इंजिनियर.

मैं 2013 में, सिर्फ 1000 रुपये के साथ अपना घर छोड़ दिया, ट्रेन के टिकट पर 800 खर्च किए. 2 महीने तक सड़कों पर घूमने के बाद आखिरकार सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी मिल गई.

एक दिन, कंपनी के वरिष्ठ कर्मचारियों में से एक ने मेरा नाम पूछा और कहा – अलीम, मैं आपकी आँखों में कुछ देख सकता हूं (मुझे यह फिल्मी लगा). उन्होंने मुझसे मेरी पढ़ाई और मेरे कंप्यूटर ज्ञान के बारे में पूछा.

स्कूल में मैंने थोड़ा बहुत HTML सीखा था. फिर उसने मुझसे पूछा कि क्या मैं और सीखना चाहता हूं? और इस तरह मेरी पढ़ाई शुरू हुई.

चूंकि हर दिन अपनी 12 घंटे की शिफ्ट पूरी करने के बाद, मैं सीनियर के पास जाता और सीखने लगा.

लगभग आठ महीने बाद, मैंने एक छोटा मोबाइल ऐप बनाया, एक ऐसा ऐप जो यूजर इनपुट लेता है और उसे विजुअलाइज करता है. वरिष्ठ कर्मचारी ने अपने मैनेजर को ऐप दिखाया और उन्हें यह पसंद आया. उन्होंने पूछा कि क्या आपका इंटरव्यू कर सकते हैं?

मुझे लगाता था कि मेरा कभी इंटरव्यू नहीं होगा, क्योंकि मैं किसी कॉलेज में नहीं गया और सिर्फ 10वीं की पढ़ाई की है. उन्होंने बताया कि #Zoho में आपको कॉलेज की डिग्री की आवश्यकता नहीं है, यहाँ क्या मायने हैं आप और आपका कौशल.

और दिन आ गया, इंटरव्यू दिया और पास कर लिया. आज #Zoho corporation में यह मेरा 8 वां वर्ष है.

मैं सभी knowledge और lessons के लिए शिबू एलेक्सिस को और जोहो कॉरपोरेशन को मुझे खुद को साबित करने का मौका देने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं.

And on the final note, It is never too late to start learning.

Source : Abdul Alim

Related posts

प्राइमरी स्कूल के टीचर ने कैसे जीता 7 करोड़ का इनाम?

Team WeYo

कब खत्म होगा कोरोना वायरस ? देखिए सिंगापुर के शोधकर्ताओं का आकलन।

Team WeYo

गांधी एक इंसान, दार्शनिक, नेता या संत नहीं बल्कि सभी भारतीयों के ” जीवन जीने का तरीका ” हैं।

Team WeYo

Share your story